Thursday 23rd of May 2024 03:28:50 PM

Breaking News
  • स्कूलों के बाद अब गृह मंत्रालय की बिल्डिंग को मिली बम से उड़ाने की धमकी|
  • 2010 के बाद जारी सभी OBC सर्टिफिकेट को कलकत्ता हाईकोर्ट ने किया ख़ारिज , बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा – इसे स्वीकार नहीं किया जाएगा |
  • कंगना को काला झंडा दिखाए जाने के मामले में बीजेपी और कांग्रेस के बीच आरोप -प्रत्यारोप |

Category: कविता

5 Feb

क्या हो तुम

दुनिया के आगे  इक योद्धा बनकर  खड़े रहते हो तुम  मगर भीतर से  सुकोमल बच्चे  जैसे हो तुम…   ग़म सारे अपने  भीतर छुपाए  रखते हो तुम  मगर सभी से 

20 Jan

नानी के आम

पीले-पीले आम रसीले, लेकर आयी नानी । बच्चों की जब नजर पड़ी तो, मुँह में आया पानी ।।   नहीं मिलेगा आम किसी को, आकर बोली रानी । सारा दिन

18 Nov

ख्वाइश

लगा पंख ख्वाहिशों के उड़ने लगा हूं जब से तेरी गलियों में घूमने लगा हूं ख्वाहिशें बिन एक आवारा बंजारा था खिलती कली देख कर मचलने लगा हूं|   सिमट

17 Sep

मानवता

सुनो ठेकेदारों, दलालों  तुम भी सुनो अपने – अपने अनुयायियों की सिसकियाँ यदि कान हैं तुम्हारे ?   जुबान तो है तुम लोगों की जिसे देखा है कई लोगों ने

24 Aug

तिरंगा

हम सुनाते तुम्हें वीर गाथा, जो लहू में नहाये हुए हैं। कर दिये नाम रोशन जहां में, सबके दिल में वो छाये हुए हैं।   गांधी बिस्मिल  भगत चन्द्रशेखर, हसते

31 Jul

प्रकृति

कितना कुछ हमकों हर रोज देती प्रकृति  मगर हमसे कुछ ना कभी लेती प्रकृति।   सुंदर लगे पेड़ पौधे इनको ना तुम कांटों रखो इसका ध्यान सदा टुकड़ों में ना

31 May

मेरा दिल

हर रोज इक सोच मेरे मन में आता हैं क्यूं जिसे भूलना चाहा दिल उसे भूल न पाता हैं ।  ऐसी अनोखी बात  उस शख्स में होती हैं जिसकी यादों

20 May

मंजिल

पाना हो यदि आपको अपनी कोई मंज़िल तो सफ़र के रास्ते पर हो जाइए शामिल। अपनी अपनी कहानी बनाने में ‌निकले सब  जाने क्या फैसला ‌ करेंगे हमारे रब। घर

20 May

मंजिल

पाना हो यदि आपको अपनी कोई मंज़िल तो सफ़र के रास्ते पर हो जाइए शामिल। अपनी अपनी कहानी बनाने में ‌निकले सब  जाने क्या फैसला ‌ करेंगे हमारे रब। घर