Saturday 28th of May 2022 06:59:48 AM

Breaking News
  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने आतंकवाद पर अंकुश लगाने के लिए अफगानिस्तान की क्षमता बढ़ाने की आवश्यकता पर बल दिया।
  • अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय दल बाढ़ और भूस्खलन की स्थिति तथा नुकसान का आकलन करने के लिए असम दौरे पर।
  • गीतांजलि श्री के उपन्यास, टूम ऑफ सैंड, ने अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीता। यह प्रतिष्ठित पुरस्कार पाने वाला हिन्दी से अनुदित पहला उपन्यास बना।
  • प्रधानमंत्री ने कहा- प्रौद्योगिकी ने समाज के अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

Category: धर्म

25 Apr

शांति पुंज की स्थापना का उद्देश्य मनुष्य का आंतरिक रूपांतरण- डॉ चिन्मय

कुशीनगर -शांति पुंज की स्थापना का उद्देश्य मनुष्य का आंतरिक रूपांतरण रहा है। व्यावसायिक वृत्ति मनुष्य के केन्द्र में है। आंतरिक रूपांतरण इस वृत्ति से हमें बचाता है।   उक्त

28 Feb

शिवरात्रि

शिव पुराण की कोटिरुद्रसंहिता में बताया गया है कि शिवरात्रि का व्रत करने से व्यक्ति को भोग एवं मोक्ष दोनों ही प्राप्त होते हैं।  ब्रह्मा, विष्णु तथा माता पार्वती के

2 Feb

माघ गुप्त नवरात्रि

आज से गुप्त नव रात्रि आरंभ हो रही है, जो 11 फरवरी शुक्रवार को विजयादशमी के साथ संपन्न होगी। आज गुप्त नवरात्रि के प्रथम दिन पूर्वाह्न 11:34 से मध्याह्न 12:27

13 Jan

मकर संक्रांति

मकर संक्रांति का अर्थ है सूर्य का मकर राशि में प्रवेश करना| कुल बारह राशियाँ होती हैं और सूर्य क्रमशः प्रत्येक राशियों से होते हुए गुजरता है| लेकिन मकर राशि

4 Nov

दीपावली का इतिहास

दीपावली को दीपों का त्योहार कहा जाता है।  दिवाली भारत का सबसे लोकप्रिय और सबसे बड़ा त्यौहार है।यह त्योहार प्रत्येक वर्ष कार्तिक मास के चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है।

17 Sep

विश्वकर्मा पूजा

विश्वकर्मा पूजा सम्पूर्ण भारत में बड़ें ही आस्था के साथ मनाया जाता है |ऐसा माना जाता है कि ब्रम्हांड के सबसे बड़े शिल्पी और वास्तुकार भगवान विश्वकर्मा थे |इनकी पूजा

20 Aug

बुद्ध धम्म

जीवन दु:ख नहीं है, जीवन में दु:ख है जीवन में सुख भी है, दु:ख भी है जब सुख होता है तब दु:ख विद्यमान नहीं होता है। लेकिन, जब दु:ख आता

24 Jul

राष्ट्रपति ने अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध परिसंघ द्वारा आयोजित वार्षिक आषाढ़ पूर्णिमा-धम्म चक्र दिवस को संबोधित किया

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा कि वैश्विक चिंता से जुड़े मुद्दों के समाधान में बौद्ध मूल्यों और सिद्धांतों के उपयोग से विश्व को आरोग्यता प्रदान करने और इसे एक

27 May

“सभी धर्मों की मार्मिकता को समझना चाहिए , तभी समाज में शान्ति सम्भव ” – प्रो वैद्यनाथ लाभ

आज नव नालन्दा महाविहार के कुलपति प्रो वैद्यनाथ लाभ की अध्यक्षता में “वर्तमान समय में बौद्ध धर्म की  प्रासंगिकता” विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार में  डॉ 

27 May

“सभी धर्मों की मार्मिकता को समझना चाहिए , तभी समाज में शान्ति सम्भव ” – प्रो वैद्यनाथ लाभ

आज नव नालन्दा महाविहार के कुलपति प्रो वैद्यनाथ लाभ की अध्यक्षता में “वर्तमान समय में बौद्ध धर्म की  प्रासंगिकता” विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार में  डॉ