Monday 8th of August 2022 10:03:33 PM

Breaking News
  • प्रधानमंत्री ने कहा, आजादी का अमृत महोत्‍सव युवाओं को राष्‍ट्र निर्माण से भावनात्‍मक रूप से जोडने का सुनहरा अवसर।
  • जगदीप धनखड बृहस्‍पतिवार को देश के 14वें उपराष्‍ट्रपति पद की शपथ लेंगे।
  • इसरो ने छोटे रॉकेट के माध्‍यम से पृथ्‍वी पर्यवेक्षण उपग्रह और आजादी सेट का श्रीहरिकोटा से प्रक्षेपण किया।
  • ह‍थकरघा दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री ने स्‍टार्टअप की दुनिया से जुडे सभी युवाओं से मेरा हथकरघा मेरा गौरव अभियान में भाग लेने का आग्रह किया। 
  • केन्‍द्रीय विश्‍वविद्यालयों की संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा तकनीकी व्‍यवधान के कारण रद्द हुई।  24 से 28 अगस्‍त तक होगी।
Facebook Comments
By : Nishpaksh Pratinidhi | Published Date : 13 Jul 6:12 PM |   31 views

श्रीलंका में राष्ट्रपति राजपक्षे के देश छोड़ने के बाद आपातकाल की घोषणा : प्रधानमंत्री कार्यालय

कोलंबो-श्रीलंका में, राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के सेना के एक विमान से देश छोड़कर मालदीव जाने के बाद बुधवार को आपातकाल की घोषणा कर दी गई।

राजपक्षे देश की अर्थव्यवस्था को न संभाल पाने के कारण अपने और अपने परिवार के खिलाफ बढ़ते जन आक्रोश के बीच देश छोड़कर चले गए हैं।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने मीडिया संगठनों को सूचना दी कि देश में आपातकाल लागू किया गया है और पश्चिमी प्रांत में कर्फ्यू लगाया गया है।

प्रधानमंत्री ने सुरक्षा बलों को उपद्रव कर रहे लोगों को गिरफ्तार करने तथा उनके वाहन जब्त करने का भी आदेश दिया है।

इससे पहले पुलिस ने कोलंबो में फ्लावर स्ट्रीट पर प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे के कार्यालय के समीप एकत्रित हुए प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले दागे।

इस बीच, प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति राजपक्षे के देश छोड़कर मालदीव चले जाने की खबरें आने के बाद फ्लावर स्ट्रीट पर प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे के कार्यालय की ओर कूच करते हुए उनसे इस्तीफा देने की मांग की।

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले भी दागे लेकिन इसके बावजूद वे अवरोधकों को हटाकर प्रधानमंत्री के कार्यालय में घुस गए।

प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे ने पहले ही कहा है कि वह इस्तीफा देने और सर्वदलीय सरकार के गठन का मार्ग प्रशस्त करने के लिए तैयार हैं।

‘कोलंबो गजट’ समाचार पोर्टल की खबर के अनुसार, प्रदर्शनकारी संसद अध्यक्ष के आवास के आसपास भी एकत्रित हो गए। स्थिति को काबू में करने के लिए सेना को तैनात किया गया है।

कोलंबो में अमेरिकी दूतावास ने अगले दो दिनों के लिए एहतियात के तौर पर अपनी सेवाएं बंद कर दी हैं।

(भाषा)

Facebook Comments