Saturday 25th of June 2022 04:10:24 AM

Breaking News
  • एन.डी.ए. की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कई केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की उपस्थिति में नामांकन पत्र दाखिल किया।
  • भारतीय वायुसेना ने अग्निपथ योजना के अंतर्गत अग्निवीरों के पहले बैच की भर्ती के लिए आज से पंजीकरण शुरू किया।
  • एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी ने कहा-साइबर, सूचना और अंतरिक्ष युद्ध के नए क्षेत्र बन रहे हैं।
  • उच्‍चतम न्‍यायालय ने 2002 के गुजरात दंगों के मामले में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी सहित 64 लोगों को एसआईटी की क्लीन चिट को चुनौती देने वाली याचिका खारिज की।
  • यूरोपीय संघ ने यूक्रेन, मोल्दोवा और जॉर्जिया को उम्मीदवार का दर्जा दिया।
Facebook Comments
By : Nishpaksh Pratinidhi | Published Date : 21 Feb 2:56 PM |   121 views

अंतर्राष्ट्रीय मातृृभाषा दिवस

 

अंतर्राष्ट्रीय  मातृृभाषा दिवस के आयोजन का शुभारम्भ 21 फरवरी 1999 को संयुक्तराष्ट्र संघ की संस्था यूनेस्को द्वारा किया गया था | यह एक सराहनीय पहल है  मातृृभाषाओं के प्रति | आजकल तेजी से  मातृृभाषाए या तो लुप्त हो रहीं हैं या लुप्त होने की कगार पर हैं |संयुक्तराष्ट्र संघ के अनुसार विश्व में 6000 भाषाए  हैं , जिसमे 43 भाषाएं लुप्त हो गई हैं | भारत में 193 भाषाएँ लुप्त होने की कगार पर हैं |

प्रत्येक जीव में भाव अभिव्यक्ति का गुण हैं | भाषा अभिव्यक्ति का माध्यम ही भाषा हैं | मातृृभाषाए सांस्कृतिक निरन्तरता का सूत्र है |यह मानव के अतीत और वर्तमान को एक सूत्र में बांधती हैं | मातृृभाषाओ को संरक्षित करना ,सुरक्षित करना और सम्बंधित करना ही अंतर्राष्ट्रीय  मातृृभाषा दिवस का मूल उद्देश्य है |

मातृृभाषा से ही किसी व्यक्ति और समुदाय की पहचान बनती है | मातृृभाषाए ही हमारी साहित्यिक और कलात्मक अभिव्यक्ति की जरिया होतीं हैं | किसी भी जनगोष्ठी की मातृृभाषा का लुप्त होना उसके लिए दुर्भाग्य पूर्ण है | विश्व की सभी भाषाओँ की प्रति सम्मान रखने और उनको विकसित करने का संस्कार हम सभी लोगो में होना चाहिए |

 नरसिंह ( वरिष्ठ पत्रकार ) 

Facebook Comments