Tuesday 21st of September 2021 01:37:02 AM

Breaking News
  • चरणजीत सिंह चन्‍नी ने पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ ली। प्रधानमंत्री ने उन्‍हें बधाई दी। कहा–केंद्र, पंजाब के लोगों की भलाई के लिए राज्‍य के साथ मिलकर काम करता रहेगा।
  • देश के कई राज्‍यों में कोविड दिशा-निर्देशों के साथ स्‍कूल फिर खुले।
  • राष्ट्रव्यापी टीकाकरण 81 करोड़ के पार। स्‍वस्‍थ होने की दर 97 दशमलव छह-आठ प्रतिशत हुई।
Facebook Comments
By : Nishpaksh Pratinidhi | Published Date : 24 Oct 3:22 PM

राजद के घोषणा पत्र में 10 लाख सरकारी नौकरी देने का वादा, बेहतर बिहार के निर्माण का आह्वान

पटना-  राजद नेता तेजस्वी यादव ने शनिवार को पार्टी का घोषणा पत्र जारी किया जिसमें 10 लाख सरकारी नौकरी देने का वादा दोहराते हुए एक ऐसे बेहतर बिहार के निर्माण का आह्वान किया गया है जहां लोगों को शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के लिये राज्य से पलायन करने की जरूरत नहीं पड़े।

राजद के घोषणा पत्र, ‘प्रण हमारा, संकल्प बदलाव का’ में पार्टी ने 10 लाख सरकारी नौकरी देने का वादा दोहराया है और कृषि रिण माफ करने की बात कही है।घोषणापत्र में कृषि, उद्योग और शिक्षा को प्रमुखता दी गई है।

यादव ने महागठबंधन को जनादेश देने की अपील करते हुए कहा, ‘‘आइये हम मिलकर अपनी पीढ़ी और अपनी आने वाली पीढ़ी के लिये एक ऐसे बेहतर बिहार का निर्माण करें जहां शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के लिये पलायन करने की जरूरत न पड़े।

उन्होंने संवाददााओं से कहा, ‘‘ हम 10 लाख सरकारी नौकरी देंगे। राजद नेता ने कहा कि सभी को पक्की नौकरी मिलेगी और एक जैसे काम के लिए सभी को एक जैसा वेतन मिलेगा।

भाजपा के 19 लाख नौकरियां देने के वादे पर तंज करते हुए राजद नेता ने कहा, ‘‘भाजपा बताए कि उनके मुख्यमंत्री पद का चेहरा कौन है? उनके मुख्यमंत्री पद का चेहरा नीतीश कुमार है। नीतीश जी ने तो पहले ही 10 लाख नौकरियों पर हाथ खड़े कर दिए, अब भाजपा कैसे 19 लाख नौकरियां देगी?

यादव ने आरोप लगाया कि नौकरी देने के नाम पर भाजपा लोगों को बेवकूफ बना रही है। महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा कि उन्होंने तार्किक आधार पर 10 लाख नौकरियों का वादा किया है क्योंकि 4.5 लाख पद तो रिक्त पड़े हैं ।

नौकरियों के लिये पैसे के बारे में नीतीश कुमार के बयान पर यादव ने कहा कि बिहार का बजट 2.5 लाख करोड़ रूपये है और उसमें से नीतीश कुमार की सरकार सिर्फ़ 60% बजट का हिस्सा ही ख़र्च कर पाती है ।

उन्होंने कहा कि 40 प्रतिशत राशि बिना खर्च रह जाती है जो 80 हजार करोड़ रूपये है। उन्होंने कहा, ‘‘क्या बाकी बचे धन को भी जनकल्याण व अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए कोई योग्य व तत्पर सरकार सदुपयोग नहीं कर पाएगी?

राजद के संकल्प में कहा गया है, ‘‘ राजद का संकल्प-समग्र विकास एकमात्र विकल्प। आओ मिलकर कदम बढ़ाएँ, तेजस्वी संग नया बिहार बनाएँ। राजद के घोषणापत्र में कहा गया है कि हमारा उद्देश्य किसानों की आमदनी बढ़ाना और कर्ज मुक्त करना है।

घोषणापत्र में किसानों की फसलों की खरीद, बोनस के साथ न्यूनतम समर्थन मूल्य पर करने के साथ साथ सरकार बनने पर कृषि रिण माफ करने की बात भी कही गई है।

राजद ने वादा किया है कि सभी सरकारी स्कूलों में अभियान चलाकर युद्ध स्तर पर अध्यापकों की भर्ती की जायेगी और सभी रिक्त पदों को प्राथमकिता के आधार पर भरा जायेगा । इसमें कहा गया है कि राज्य के बजट में शिक्षा बजट का हिस्सा 22 प्रतिशत होगा।

राजद ने अपने घोषणापत्र में कहा कि राज्य में पूंजी निवेश और उद्योगों को प्रोत्साहन देने के लिये मास्टर प्लान बनाने के साथ रियायती दर पर जमीन और कर छूट की व्यवस्था की जायेगी ।

इसमें कहा गया है कि हर पंचायत में ग्रामीणों के लिये नि:शुल्क कम्प्यूटर केंद्र बनाया जायेगा । घोषणापत्र में कहा गया है कि राज्य में विश्वस्तरीय खेल विश्वविद्यालय की स्थापना की जायेगी ।

Facebook Comments