Friday 30th of July 2021 06:16:17 AM

Breaking News
  • कोविड रोधी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 45 करोड़ सात लाख से अधिक टीके लगाए जा चुके हैं। देश में स्‍वस्‍थ होने की दर बढकर 97 दशमलव तीन-आठ प्रतिशत हो गई है।
  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के एक वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्‍य में शिक्षा क्षेत्र में अनेक नए सुधारों का शुभारंभ करेंगे।
  • उच्चतम न्यायालय ने एफआरएल-रिलायंस सौदे के खिलाफ अमेजन की याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा|
Facebook Comments
By : Nishpaksh Pratinidhi | Published Date : 4 Jun 6:43 PM

सड़क हादसे कम करने की तैयारी, सुलतानपुर में आई रेड परियोजना की लाइव एंट्री शुरू

सुलतानपुर -राष्ट्रीय परिवहन एवं राज मार्ग मंत्रालय द्वारा 15 मार्च 2021 से आई रेड परियोजना (इट्रीग्रेटेड रोड एक्सीडेन्ट डाटावेस) को जनपद में लाइव किया जा चुका है। इस परियोजना के तहत सम्बन्धित थाना क्षेत्रों में होने वाली छोटी से छोटी सड़क दुर्घटना का डाटा आनलाईन मोबाईल एप पर फीड किया जायेगा । आई0आई0टी0 मद्रास द्वारा विकसित आई रेड मोबाईल एप में सड़क दुर्घटना स्थल पर ही दुर्घटना की एंट्री, फोटो, दुर्घटना में सम्मिलित वाहनों की संख्या, पीड़ित एवं आरोपी के वाहनों की पंजीकृत संख्या, वाहन चालक का नाम आदि की फिडिंग की जाती है।
 
इन सड़क दुर्घटनाओं की एंट्री से तैयार डाटा बेस की मदद से राष्ट्रीय परिवहन एवं राज मार्ग मंत्रालय को दुर्घटना क्षेत्रों की खोज करने, दुर्घटना होने के कारणों एवं दुर्घटना रोकने के लिये सहायता मिलेगी और उन्हें कम करने का भी प्रयास किया जायेगा।
 
जनपद सुलतानपुर में इस परियोजना को सुचारू रूप से लागू करने के लिये अपर पुलिस अधीक्षक एवं नोडल अधिकारी (आई रेड एप)  विपुल कुमार श्रीवास्तव जी के आदेश पर सभी थानों के सम्बन्धित सभी पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों को कार्यालय जिला सूचना विज्ञान केन्द्र सुलतानपुर के रोल आउट मैनेजर स्नेह लता सिंह द्वारा सफलता पूर्वक प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इस मोबाईल एप में पुलिस विभाग के साथ अन्य 03 विभाग परिवहन, चिकित्सा विभाग एवं सड़क विभाग को सम्मिलित किया गया है। 
 
वर्तमान समय में जनपद सुलतानपुर के समस्त थानों में  आई रेड मोबाईल एप पर सड़क दुर्घटनाओं की डाटा फिडिंग का कार्य पूर्ण रूप से और आन द स्पाट लाइव भी किया जा रहा है। जिला सूचना विज्ञान अधिकारी  राजेश पटेल जी के तरफ से यह बताया गया है कि सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिये ये परियोजना एक बहुत अच्छी पहल है इसके सफल होने से हम, लोगों की जान बचाने में भी सफल होंगें।
Facebook Comments