Saturday 28th of May 2022 07:22:04 AM

Breaking News
  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने आतंकवाद पर अंकुश लगाने के लिए अफगानिस्तान की क्षमता बढ़ाने की आवश्यकता पर बल दिया।
  • अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय दल बाढ़ और भूस्खलन की स्थिति तथा नुकसान का आकलन करने के लिए असम दौरे पर।
  • गीतांजलि श्री के उपन्यास, टूम ऑफ सैंड, ने अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीता। यह प्रतिष्ठित पुरस्कार पाने वाला हिन्दी से अनुदित पहला उपन्यास बना।
  • प्रधानमंत्री ने कहा- प्रौद्योगिकी ने समाज के अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
Facebook Comments
By : Nishpaksh Pratinidhi | Published Date : 14 Jan 5:24 PM |   138 views

कृषि विभाग की टीम ने उर्वरक दुकानों पर की छापेमारी

अमेठी – अपर मुख्य सचिव कृषि उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश के क्रम में जनपद में रबी फसलों में यूरिया टॉप ड्रेसिंग के दृष्टिगत किसानों को यूरिया उर्वरक निर्धारित दर पर उपलब्ध कराने हेतु जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र द्वारा उर्वरक बिक्री केंद्रों पर सघन निरीक्षण हेतु कृषि  एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों की तहसीलवार टीम गठित करते हुए  छापे आयोजित करने के निर्देश दिए गए।
 
तहसील गौरीगंज में उप कृषि निदेशक, अमेठी में हरिओम मिश्र उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकारी, मुसाफिरखाना व तिलोई तहसील में अखिलेश पांडेय जिला कृषि अधिकारी व सम्बंधित तहसीलों के तहसीलदार को नामित किया गया है, जिसके क्रम में 13 जनवरी 2021 को जनपद अमेठी में कुल 48 दुकानों पर छापेमारी की गई तथा पांच उर्वरकों के नमूने ग्रहण किए गए ।अनियमितता पाए जाने पर तीन दुकानों के लाइसेंसों को निलंबित किया गया एवं तीन दुकानों को कारण बताओ नोटिस जारी की गई।
 
शुभम फर्टिलाइजर कस्थूनी एवं अमन खाद भंडार शुकुल बाजार को पी ओ एस स्टाक व भौतिक स्टॉक में अंतर पाए जाने के कारण निलंबित किया गया, आईएफएफडीसी कृषक सेवा केंद्र संग्रामपुर को यूरिया उर्वरक वितरण में अनियमितता पाए जाने  एवं अभिलेख प्रस्तुत न करने के कारण निलंबित किया गया है।
 
इसके साथ ही सरस्वती इंटरप्राइजेज शुकुल बाजार को स्टॉक रजिस्टर अपडेट ना करने व यूरिया  के साथ अन्य उत्पाद की टैगिंग करने, बालाजी खाद एवं बीज भंडार संसारपुर एवं शिव खाद भंडार ऊंच गाँव को दुकान बंद कर भाग जाने पर कारण नोटिस दी गई है। साथ ही विक्रेताओं को निर्धारित दर पर पास मशीन से किसानों को उनकी खेती की जमीन व फसलों में उर्वरक की संस्तुति को देखते हुए बिक्री करने के निर्देश दिए गए।
Facebook Comments