Sunday 20th of June 2021 03:19:14 AM

Breaking News
  • केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से कहा: अनलॉक प्रक्रिया सावधानीपूर्वक व्यवस्थित हो |
  • गुजरात में 77 आईएएस अधिकारियों का तबादला |
  • पंचतत्व में विलीन हुए मिल्खा सिंह |
  • लखनऊ दौरे पर जितिन प्रसाद ने योगी आदित्यनाथ से की मुलाक़ात |

Category: लेख

9 Jun

बुद्धि और विवेक

यस्य नास्ति स्वयं प्रज्ञा             शास्त्रम् तस्य करोति   किं लोचनाभ्याम विहिनस्य,                    दर्पण: किं करिश्यति अर्थात:- जिस

18 May

राजकीय बौद्ध संग्रहालय गोरखपुर का इतिहास

मानव सभ्यता का इतिहास इस सत्य को उजागर करता है कि मनुष्य ने अपने अतीत को सुरक्षित रखने का प्रयास किया, क्योंकि विधाता की सृष्टि में मनुष्य उसकी सर्वश्रेष्ठ रचना

9 May

बैलगाड़ी व चीलगाड़ी

आज जो भी लोग उम्र के पाँच दशक पूरे कर चुके होंगे, वे कभी न कभी तांगे या इक्के पर जरूर बैठे होंगे।उनमें से कुछ लोग बैलगाड़ी पर भी बैठे

23 Dec

पेरियार के ईश्वर से सवाल

समता मूलक और शोषण मुक्त समाज बनाने, शिक्षा का अधिकार दिलाने,  और महिलाओं को  शिक्षित  करके उनमें स्वाभिमान जगाने  के लिए  जिस तरह से   दलित संत और समाज सुधारकों  में

20 Nov

विकास पर विचारणीय भोजपुरी या पूर्वांचल

उत्तर प्रदेश, हरियाणा और हिमाचल की सरकारों ने निर्देश दिया कि इस बार कोरोना से बचाव हेतु लोग छठपर्व अपने-अपने छत पर मनावें। यही निर्देश दिल्ली की आप सरकार ने

2 Oct

महात्मा गांधी

यह कहना कितना यथार्थ है कि ” साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल | वास्तव में इसका मूल स्रोत महात्मा गांधी की सर्वोत्मुखी प्रतिभा थी |गांधी जी आजीवन ‘

19 Jul

प्रजातंत्र के स्वरुप

प्रशासन का वह भाग जो सामान्य जनता के हित के लिये होता है, लोकप्रशासन कहलाता है। लोकप्रशासन का संबंध सामान्य नीतियों /सार्वजनिक नीतियों से होता है। एक अनुशासन के रूप

21 Jun

योग

योग प्राचीन काल से ही भारतीय संस्कृति का अभिन्न अंग रहा है |सनातन परम्परा एवं  मानव धर्म की परम उपलब्धि जीव का शिव से मिलन अर्थात मोक्ष है | इसमें

1 Apr

बेरोजगारी

भारत एक कृषि प्रधान देश है। कृषि जगत से हमारे जीवन की अधिकतम आवश्यकताओं की आपूर्ति होती है। किंतु किसान का जीवन 70-72 बरसों की आजादी के बाद भी विपन्न

12 Feb

भोजपुरी विरोध: भ्रांतियाँ एवं तथ्य

कतिपय बुद्धिजीवी अज्ञानतावश भोजपुरी के विरोध पर उतारू हैं। भोजपुरी का दुर्भाग्य रहा है कि इसके समर्थक और विरोधी दोनों ही भोजपुरी को भाषा में सीमित कर परस्पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते रहते

12 Feb

भोजपुरी विरोध: भ्रांतियाँ एवं तथ्य

कतिपय बुद्धिजीवी अज्ञानतावश भोजपुरी के विरोध पर उतारू हैं। भोजपुरी का दुर्भाग्य रहा है कि इसके समर्थक और विरोधी दोनों ही भोजपुरी को भाषा में सीमित कर परस्पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते रहते